spot_img

देश में पहली बार छत्तीसगढ़ में 4 दिसंबर से हेल्पलाइन:अब बुजुर्गों के लिए हेल्पलाइन नंबर 155326 तबियत खराब या इमरजेंसी पर यही समाधान

Must Read

acn18.com रायपुर/देश में पहली बार एक ही नंबर पर बुजुर्गों, दिव्यांगों और ट्रांस जेंडर की हर समस्या का समाधान होगा। समाज कल्याण विभाग हेल्प लाइन नंबर 155326 के सॉफ्टवेयर को इस तरह से बनाया गया है कि अपराध, स्वास्थ्य और विभाग से जुड़ी हर योजना की समस्याओं पर त्वरित कार्रवाई की जाएगी। कार्रवाई के ट्रैकिंग का सिस्टम भी तैयार किया गया है। एक नवंबर से इस हेल्प लाइन नंबर का ट्रायल चल रहा था, जो कि सफल हो चुका है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 4 दिसंबर को यह हेल्प लाइन नंबर जनता को समर्पित करेंगे।

- Advertisement -

इसके पहले गुजरात में समाज कल्याण विभाग का हेल्प लाइन नंबर चालू है, लेकिन वहां केवल विभाग से जुड़ी योजनाओं की समस्याओं को ही सुना जाता है। खास बात ये है कि हेल्पलाइन नंबर के इस सॉफ्टवेयर को इस तरह तैयार किया गया है कि अगर कोई जिला अधिकारी 7 दिन के अंदर कोई मामले का निपटारा नहीं करता है तो आटोमैटिक मेल ज्वाइंट डायरेक्टर के पास चली जाएगी। अगर डायरेक्टर तीन दिन के अंदर कुछ नहीं करते हैं तो मामला सचिव के पास पहुंच जाएगा। विभाग के अधिकारियों का कहना है कि ट्रायल में यह समय सीमा तय की गई है। व्यवस्था शुरू होने के बाद इसे बढ़ाया-घटाया भी जा सकता है।

हेल्पलाइन पर काॅल करते ही यह 112 या 104 से कनेक्ट
अगर किसी बुजुर्ग, दिव्यांग या ट्रांस जेंडर के साथ कोई अपराध हो रहा हो या इसका अंदेशा हो तो वे सबसे पहले मोबाइल या लैंडलाइन से हेल्पलाइन नंबर 155326 पर काॅल करें। फोन रिसीव होते ही जरूरत पूछी जाएगी। अपराध की आशंका जताते ही काॅल पुलिस के हेल्पलाइन नंबर 112 पर डायवर्ट हो जाएगी। साफ्टवेयर तुरंत इस मामले में आईडी जनरेट कर देगा।

फिर इस संबंध में पुलिस ने क्या किया, इसकी फॉलोअप रिपोर्ट भी इसमें दर्ज की जाएगी। अगर हेल्पलाइन पर काॅल करके बुजुर्ग स्वास्थ्य संबंधी परेशानी बताएंगे तो यही काॅल सीधे हेल्पलाइन 104 पर ट्रांसफर हो जाएगी। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने मरीज को तुरंत सहायता दी या नहीं, इसकी साफ्टवेयर से ट्रैकिंग जारी रहेगी।

इतने लोगों को फायदा
वरिष्ठ नागरिक 20,27,000
पेंशन हितग्राही 24,16,499
दिव्यांग जन 6,24,937
थर्ड जेंडर 3062

पेंशन न मिले तो भी काॅल
प्रदेश में 24,16,499 पेंशनधारी हैं, जिनके लिए ये हेल्पलाइन बेहद महत्वपूर्ण होगी। अगर किसी की पेंशन नहीं आई है, या कम आई हो तो वह 155326 पर जैसे कॉल करेगा, तुरंत संबंधित जिला अधिकारी को मेल चला जाएगा। एक तय समय सीमा में जिला अधिकारी को उसकी समस्या का समाधान कर रिपोर्ट देनी होगी। वही रिपोर्ट संबंधित कॉलधारक को भेज दी जाएगी।

देश में पहली बार ऐसा होगा कि समाज कल्याण विभाग के हेल्पलाइन नंबर से पुलिस और स्वास्थ्य समस्याओं का समाधान होगा। अभी 155326 नंबर को 104 और 112 से इंटीग्रेट किया है। आगे इसे कुछ और सरकारी हेल्पलाइनों से जोड़ देंगे। -भुवनेश यादव, सचिव-समाज कल्याण

रायपुर : विधानसभा अध्यक्ष एवं कृषि मंत्री ने बीमा रथ को हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना

377FansLike
40FollowersFollow
377FansLike
40FollowersFollow
Latest News

More Articles Like This

- Advertisement -