spot_img

रामनवमी पर महाराष्ट्र के संभाजीनगर में हिंसा:राम मंदिर के बाहर की आगजनी, दंगाइयों ने पुलिस की गाड़ियां भी फूंकी; 6 घायल

Must Read

महाराष्ट्र के छत्रपति संभाजीनगर ( पुराना नाम औरंगाबाद) के किराडपुरा इलाके में बुधवार रात दो गुटों के बीच झड़प हो गई। लोगों ने एक-दूसरे पर पथराव किया। धार्मिक स्थल के बाहर कई वाहनों में आग लगा दी।

- Advertisement -

पुलिस जब हालात पर काबू पाने के लिए पहुंची तो भीड़ ने पथराव किया। पुलिस की गाड़ियों में आग लगा दी। इस हमले में 2 पुलिसकर्मियों समेत पांच से छह लोग घायल हो गए। हिंसा रात 11.30 बजे शुरू हुई और तड़के 3.30 बजे तक जारी रही।

उधर, छत्रपति संभाजीनगर के सांसद इम्तियाज जलील ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि यहां झड़प शराबियों के दो गुटों में हुई। इन्होंने ही पत्थरबाजी की। राम मंदिर को कोई नुकसान नहीं हुआ। मंदिर में कोई नहीं गया। इसलिए नागरिकों को अफवाहों पर विश्वास नहीं करना चाहिए।

किराडपुरा के इसी राम मंदिर के बाहर दो गुटों के बीच झड़प शुरू हुई।
किराडपुरा के इसी राम मंदिर के बाहर दो गुटों के बीच झड़प शुरू हुई।

पुलिस आयुक्त बोले- दंगाइयों को पकड़ने के लिए 8-10 टीमें बनाई जाएंगी
छत्रपति संभाजीनगर के पुलिस आयुक्त निखिल गुप्ता ने बताया कि रात में किराडपुरा में तनाव पैदा करने की कोशिश करने वाले दंगाइयों को पकड़ने के लिए पुलिस 8 से 10 टीमें गठित की हैं। इलाके में 3500 से ज्यादा जवान तैनात किए गए हैं। कुछ इलाकों में मार्च भी किया गया है। लोगों से अफवाहों पर ध्यान ना देने की अपील भी की गई है

पुलिस जब हालात पर काबू पाने के लिए पहुंची तो भीड़ ने पथराव किया। पुलिस की गाड़ियों में आग लगा दी।
पुलिस जब हालात पर काबू पाने के लिए पहुंची तो भीड़ ने पथराव किया। पुलिस की गाड़ियों में आग लगा दी।

अब जानिए क्या मामला था…
आज यानी गुरुवार को मनाई जाने वाली रामनवमी के अवसर पर शहर के कई इलाकों में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। किराडपुरा बस्ती स्थित राम मंदिर में भी तैयारियां चल रही थीं। रात करीब 11.30 बजे युवकों का एक जत्था मंदिर की ओर जा रहा था। यहां पर दूसरे गुट के साथ उनका झगड़ा हुआ और कहासुनी बढ़ गई। दोनों गुटों में गाली-गलौज शुरू हो गई और जो नारेबाजी में बदल गई।

थोड़ी देर बाद एक समूह ने मंदिर की ओर पथराव किया। कुछ लोग जान बचाने के लिए मंदिर में घुसे, उन पर भी हमला किया गया। लोगों ने पुलिस को बुलाया, लेकिन जब तक पुलिस आई, तब तक आगजनी शुरू हो चुकी थी। मंदिर के सामने खड़े पुलिस वाहन को दंगाइयों ने आग लगा दी।

भीड़ को काबू में करने के लिए कुछ धर्मगुरुओं को बुलाया गया। लेकिन भीड़ उनकी बात मानने को तैयार नहीं थी। कुछ ही देर में पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों समेत भारी फोर्स मौके पर पहुंच गई। दंगाइयों ने उन पर भी पथराव किया और कार के शीशे तोड़ दिए। पुलिस ने लाठी चार्ज कर भीड़ को तितर-बितर किया। आंसू गैस के गोले भी छोड़े। दंगाइयों ने दमकल विभाग के वाहनों पर पानी भी फेंका।

377FansLike
57FollowersFollow
377FansLike
57FollowersFollow
Latest News

मुख्यमंत्री विष्णु देव साय मंत्रालय में वन टू वन कर रहे हैं बैठक

Acn18.com/मुख्यमंत्री विष्णु देव साय मंत्रालय में वन टू वन कर रहे हैं बैठक अधिकारियों से योजनाओं की प्रगति की ले...

More Articles Like This

- Advertisement -