spot_img

रेलगाड़ी की सीट के नीचे छिप कर पहुंच गई थी आसनसोल, चाइल्ड लाइन ने दिया संरक्षण, बालिका लौटी कोरबा

Must Read

acn18.com/कोरबा । कुछ महीने पहले बिलासपुर स्टेशन मैं परिजनों से बिछड़ी एक बालिका को खोज लिया गया है। पश्चिम बंगाल के आसनसोल से उसकी बरामदगी हुई है। बालिका को कोरबा लाने के साथ फिलहाल संरक्षण गृह में रखा गया है । जरूरी कार्रवाई के साथ उसे परिजनों के हवाले किया जाएगा।

आर्थिक रूप से कमजोर एक परिवार की 8 वर्षीय बालिका कुछ समय पहले कोरबा आने के दौरान अपने परिवार से अलग हो गई थी इसे लेकर परिजन काफी परेशान थे उन्होंने पुलिस के पास इस मामले की शिकायत की थी उपनिरीक्षक भावना खंडारे ने बताया कि बालिका की फोटो को विभिन्न क्षेत्रों में पहुंचाया गया काफी प्रयास के बाद उसके बारे में जानकारी हासिल हो।

गलत ट्रेन में सवार होने के कारण बालिका पश्चिम बंगाल के आसनसोल पहुंच गई थी उस देर के बाद उसे एहसास हो गया था कि वह गलत जगह पर है। इसलिए डर के कारण ट्रेन की सीट के नीचे छुप गई थी आसनसोल में ट्रेन के रुकने पर रेलवे स्टाफ ने बालिका को देखा और उसके बाद उसे चाइल्डलाइन के सुपुर्द कर दिया। जहां पूछताछ में बालिका के छत्तीसगढ़ का होना स्पष्ट हुआ था।

पुलिस अधिकारी के अनुसार इससे पहले भी बालिका अपने घर से भाग चुकी हैं कई कारण इस मामले सामने आए हैं संभवत इस बार भी उसने परिवार से अलग होने की ठानी थी।

तमाम प्रयास के बाद लापता बालिका को ढूंढने का काम कर लिया गया है आसनसोल से एक टीम ने बालिका को बरामद करने के साथ कोरबा पहुंचाया बालिका संरक्षण गृह में उसे जरूरी जानकारी दी गई है बताएं क्या की सभी औपचारिकताओं को पूरा करने के बाद बालिका को उसके परिजनों के हवाले किया जाएगा

Latest News
- Advertisement -

More Articles Like This

- Advertisement -